सीबीआई उप-निरीक्षक को कितने छुट्टिया मिलती हैं – सैद्धांतिक और व्यावहारिक रूप से?

अगर आप इस आर्टिकल पर आधारित यूट्यूब वीडियो देखना चाहते हैं तो यहां क्लिक करें –

अगर आप आर्टिकल को पढ़ना चाहते हैं तो कृपया आगे पढ़ें।

भारत में प्रत्येक केंद्रीय सरकारी कर्मचारी एक वर्ष में 30 अर्जित छुट्टियां और 8 आकस्मिक छुट्टियों का हकदार है। सरकारी बैंक कर्मचारियों के लिए, प्रति वर्ष दी जाने वाली आकस्मिक छुट्टियां12 हैं। इसके अलावा, सरकार द्वारा घोषित राजपत्रित अवकाशों के अलावा, एक सरकारी कर्मचारी 2 दिनों के लिए प्रतिबंधित अवकाश (आरएच) का हकदार है, जोकि प्रति वर्ष लगभग 17 होती है। एक अन्य 15 दिनों की छुट्टी भी चिकित्सा आधार पर एक कर्मचारी को दी जा सकती है यदि वह उसका चिकित्सा प्रमाण पत्र प्रस्तुत करता है।

अर्जित छुट्टियां प्रतिमाह 2.5 मिलती हैं तथा वो सेवा की अवधि के दौरान जुड़ती जाती हैं | सेवानिवृत्ति के समय आप मौजूदा नियमों के अनुसार 300 छुट्टियों का नकदीकरण कर सकते हैं | नकदीकरण की राशि आपको आपके रिटायरमेंट से जस्ट पहले के माह के वेतन के आधार पर दी जाएगी। यह छुट्टियां किसी और तरह कीछुट्टी के साथ नहीं ली जा सकती | उदाहरण के लिए अगर आप की छुट्टियों के बीच में कोई राजपत्रित अवकाश या शनिवार तथा रविवार पड रहे हैं तो वह आपकी छुट्टियां में ही कटेंगे |

आपको प्रतिवर्ष 8 आकस्मिक अवकाश भी दिए जाते हैं| यदि आप दिसंबर माह के अंत में भी डिपार्टमेंट ज्वाइन करते हैं तो भी आपको 8 आकस्मिक अवकाश दिए जाएंगे | अगर आप आकस्मिक अवकाश का उपयोग नहीं कर पाते तो 31 दिसंबर को आपके बच्चे हुए अवकाश समाप्त हो जाएंगे तथा 1 जनवरी को आप को फिर से अगले साल के लिए 8 अवकाश मिलेंगे।।

सीबीआई में अवकाश –

आर्जित अवकाश (Gazetted holidays)

सीबीआई में अर्जित अवकाश का लाभ उठाने के लिए आपको लगभग 2 या 3 सप्ताह पहले आवेदन देना होगा क्योंकि अर्जित अवकाश को पारित करवाने के लिए आपकी ब्रांच के प्रमुख एसपी या डीआईजी का संशोधन लगता है। जब आपकी फाइल एस पी ए डी आई जी के पास जाती है तो उसमें वह अपनी सिफारिश या आपत्ति लिखते हैं तथा डीआईजी आप की छुट्टियों का अंतिम निर्णय लेता है

यह मेरा अवलोकन है कि सीबीआई में आपको एक वर्ष में 15-18 दिनों के अर्जित अवकाश दिए जाते हैं, लेकिन इससे अधिक नहीं। पुनरावृत्ति के लिए आवेदन करने से उच्च प्राधिकारी का क्रोध आकर्षित हो सकता है क्योंकि वे उससे अधिक छुट्टियां मंजूर नहीं करते हैं। वरिष्ठ अधिकारी आपके द्वारा विनती किए गए अवकाश की अवधि को कम भी कर सकते हैं तथा आपकी विनती को ठुकरा भी सकते हैं | यह वरिष्ठ अधिकारी का पूरा अधिकार है |

सामान्यतः यदि आप जून और दिसंबर के महीने में छुट्टी के लिए आवेदन करते हैं, तो संभावना है कि आपकी छुट्टी स्वीकृत हो जाएगी।

आकस्मिक अवकाश (Casual Leaves)

आकस्मिक अवकाश से जैसा कि नाम से ही विदित है यह तब लिया जाता है जब कोई अप्रत्याशित आपातकाल पडा हो या कोई ऐसी परिस्थिति बनी हो जिसका कि आपको पहले से अंदाजा नहीं लगा था । आप बिना किसी पूर्व सुकृति के या सूचना के इसका लाभ उठा सकते हैं उनके आपको ड्यूटी अधिकारी को फोन के माध्यम से सूचित करना आवश्यक है कि आप आज नहीं आ रहे हैं । आप सीबीआई में 1 साल में 8 आकस्मिक अवकाश का कोटा समाप्त कर सकते हैं | सामान्यतः सीबीआई में आपके आकस्मिक अवकाश को ठुकराया नहीं जाता।

प्रतिबंधित अवकाश (Restricted holidays)

आप प्रति वर्ष 2 दिन के प्रतिबंधित अवकाश (आरएच) के हकदार हैं। छोटी दिवाली जैसे छोटे त्योहार, छठ पूजा, भाई दूज आदि पर प्रतिबंधित छुट्टियां पड़ती हैं। आप इंटरनेट परआरएच की पूरी सूची देख सकते हैं। चूंकि प्रतिबंधित छुट्टियां किसी त्यौहार के पास पड़ती हैं, इसलिए ये छुट्टियां लगभग हमेशा स्वीकृत होते हैं।

राजपत्रिक अवकाश (Gazetted holidays)

राजपत्रित अवकाश सरकारी घोषित छुट्टियां हैं। ये लगभग 17 प्रतिवर्ष होतीहैं अगर सरकार कोई छुट्टी रद्द नहीं करती। GH की पूरी सूची भी इंटरनेट से पाई जा सकती है।

पढ़ना जारी रखें –

  1. सीबीआई में एक उपनिरीक्षक को क्या-क्या काम दिए जाते हैं ?
  2. सीबीआई में सब इंस्पेक्टर महिलाओं के लिए सबसे अच्छा विकल्प क्यों है ?
  3. सीबीआई में स्थानांतरण और पोस्ट पर एक आर्टिकल
  4. सीबीआई के विभिन्न शाखाएं क्या है और उनमें प्रत्येक में उपनिरीक्षक की क्या भूमिका है?
  5. भाग-1 सीबीआई ट्रेनिंग परिचय – जीवन का एक अद्भुत अनुभव
%d bloggers like this: